मशहूर संगीतकार रवींद्र जैन का हुआ निधन

0
140

71 वर्षीय मशहूर संगीतकार रवींद्र जैन का लीलावती अस्पताल में निधन हो गया है। बता दें कि रविन्द्र जैन किडनी में समस्या होने की वजह से यूरिनरी इंफेक्शन से पीड़ित थे। उन्हें बुधवार को एक चार्टर्ड एयर एम्बुलेंस द्वारा नागपुर के वॉकहार्ट अस्पताल से मुंबई के लीलावती अस्पताल में इलाज के लिए लाया गया था। जहां उनका निधन हो गया।

रवींद्र जैन का शुक्रवार की दोपहर 4.10 मिनट पर लीलावती अस्पताल में दुःखद निधन हुआ है। रविन्द्र जैन जी का पार्थिव शरीर उनके चाहनेवालों के लिए अंतिम दर्शन हेतु दिनाँक शनिवार को प्रातः 11 बजे से 2 बजे तक आजीवासन हॉल, जुहू तारा रोड,एस एन डी टी कॉलेज के पास. सांताक्रुज वेस्ट में रखा जाएगा।तत्पश्चात उनके पार्थिव शरीर का दाह संस्कार दोपहर 3 बजे सांताक्रुज शमशान घाट सांताक्रुज पोलिस स्टेशन के पास किया जाएगा।

हर हसीं चीज का मैं तलबगार हूं’ जैसे रोमांटिक और ‘श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम’ जैसे भक्तिमय तथा ‘ठंडे-ठंडे पानी से नहाना चाहिए’ जैसे चुलबुले गीतों की हमारे दिलो पर छाप छोड़ गए मशहूर रविन्द्र जैन हमे सदा याद रहेंगे।

फिल्मों के साथ-साथ मशहूर धार्मिक टेलीविजन धारावाहिक रामायण और लव-कुश में संगीत दिया और गायन भी किया। घर-घर में देखे जाने वाले इन धारावाहिकों से रवींद्र जैन को काफी लोकप्रियता मिली। खास तौर पर रामायण के संगीत के कारण उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा।

रवीन्द्र जैन का जन्म 28 फरवरी 1944 को अलीगढ़ में हुआ था। जन्म के समय से ही रवीन्द्र जैन की आँखें बंद थीं जिन्हें पिता के मित्र डॉ. मोहनलाल ने सर्जरी से खोला। साथ ही यह भी कहा कि बालक की आँखों में रोशनी है, जो धीरे-धीरे बढ़ सकती है, लेकिन इसे कोई ऐसा काम मत करने देना जिससे आँखों पर जोर पड़े।

रवीन्द्र जैन का पहला फिल्मी गीत 14 जनवरी 1972 को मोहम्मद रफी की आवाज में रिकॉर्ड हुआ। बता दें कि वर्ष 1985 में प्रदर्शित राजकपूर की फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली’ के लिये रवीन्द्र जैन सर्वश्रेष्ठ संगीतकार के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किये गये।

ravindra jain

SHARE

LEAVE A REPLY